गुरुवार, 21 अक्तूबर 2010

21.10.2010:आजाद हिन्द फौज का 67वां स्थापना दिवस


विभिन्न जनपदोँ मेँ भारतीय सुभाष सेना ने नेता जी सुभाष चन्द्र बोस
की आजाद हिन्द फौज का 67वां स्थापना दिवस समारोह का आयोजन किया
गया.भारतीय सुभाष सेना के पीलीभीत जिलाध्यक्ष कन्हई लाल प्रजापति की
अध्यक्षता मेँ समारोह का आयोजन नरायनपुर सिरसा चौराहा पूरनपुर मेँ
सम्पन्न हुआ.समारोह का संचालन जिलाध्यक्ष राकेश कुमार सुभाष ने किया .
सेना के वरिष्ठ प्रान्तीय महासचिव प्रवक्ता श्री पातीराम वर्मा सुभाष ने
अपने सम्बोधन मेँ कहा कि नेता जी सुभाष चन्द्र बोस ने अपनी आजाद हिन्द
फौज की स्थापना 21अक्टूबर1943ई0को सिँगापुर मेँ की थी.भारतीय सुभाष सेना
पीलीभीत जिलाध्यक्ष कन्हई लाल प्रजापति सुभाष ने कहा कि नेता जी सुभाष
चन्द्र बोस आज भी जीवित हैँ.पूर्ण रुप स्वस्थ हैँ और निकट भविष्य कुछ
ही दिनोँ के बाद उनका भारत मेँ खुलेआम प्रकटीकरण होगा.महान सन्त सम्राट
सुभाष जी का कहना है कि तृतीय विश्व युद्ध सुनिश्चित है और वह सुभाष पर
निर्भर करता है . यदि भारत की जनता सुभाष का साथ देती है तो युद्ध टल
सकता है.

इस उपलक्ष्य पर हमने भी मीरानपुर कटरा स्थित आदर्श बाल विद्यालय
इण्टर कालेज मेँ एक विचार गोष्ठी का आयोजन किया जिसमेँ मैँने बताया कि
जिस तथाकथित विमान दुर्घटना मेँ उनकी मृत्यु बतायी जाती है,वह फर्जी
सिद्ध हो चुकी है.जांच हेतु जब मुखर्जी आयोग रुस गया तो उसे फोन पर
धमकियां भी मिलीँ.भारत के एक गृह सचिव का कहना है कि नेता जी सम्बन्धी
दस्तावेज सार्वजनिक करने का मतलब है एक देश को नाराज करना.सबसे बड़ी बात
यह है कि विदेश मन्त्रालय, गृह मन्त्रालय व अन्य कार्यालयोँ से सम्बन्धित
दस्तावेज गायब क्योँ कर दिये गये?इस मामले मेँ कांग्रेस का चरित्र
संदिग्ध नहीँ लगता क्या ?

कोई टिप्पणी नहीं: